जहाज महल

जहाज महल, मांडू का एक खूबसूरत, अच्‍छी तरह से रखी गई, ऐतिहासिक दृष्टि से महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है। यह महल दो झीलों कापुर तालाब और मुंज तालाब के बीच बना हुआ है जो देखने में जहाज के जैसा दिखता है। इस महल को खिजली राजवंश के घिया – उद – दीन खिजली के द्वारा बनवाया गया था। इस महल में कई फव्‍वारे और कैनॉल है जिनसे पानी बहता है, इस जगह आसानी से देखा जा सकता है कि राजा अपनी सारी पत्नियों के साथ कितने मजे से समय बिताते होगें। इस महल की वास्‍तुकला में दो मंजिला इमारत, कई खंभे, मेहराब और खपरैल की छत भी बनी हुई है। यह महल फोटो खींचने के शौकीन पर्यटकों को अवसर प्रदान करता है। यहां से झील का मनोरम दृश्‍य और आसपास बने हुए गार्डन का नजारा बेहद दिलकश होता है। इरकबाज़ लोग यहां बैठकर अक्‍सर उस जमाने में राजा के सुखों के बारे में बात भी किया करते है।

फोटो गैलरी

  • जहाज महल
  • जहाज महल

कैसे पहुंचें:

बाय एयर

मांडू एक छोटा सा शहर है ले‍िकन फिर भी यहां तक वायु मार्ग के द्वारा इंदौर के रास्‍ते से आसानी से पहुंचा जा सकता है। मांडू का सबसे नजदीकी एयरपोर्ट इंदौर हवाई अड्डा है जो मांडू से 100 किमी. की दूरी पर स्थित है। इस एयरपोर्ट से भारत के प्रमुख शहरों के लिए नियमित उड़ाने भरी जाती है जिनमें दिल्‍ली, मुम्‍बई, ग्‍वालियर और भोपाल शामिल है।

ट्रेन द्वारा

इंदौर निकटतम रेलवे स्टेशन है जो भारत के प्रमुख स्टेशनों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

सड़क के द्वारा

मांडू से राष्‍ट्रीय राजमार्ग और राज्‍य राजमार्ग दोनों ही अच्‍छी तरह जुड़े हुए है। इस शहर से भारत के महत्‍वपूर्ण शहरों के लिए बसें आसानी से मिल जाती है। मांडू, धार और इंदौर से अच्‍छी तरह कनेक्‍ट है। मांडू से इंदौर व धार के लिए नियमित रूप से बसें चलती रहती है। कार को भी इंदौर और धार से किराए पर ले जाया जा सकता है।